7 Best Wedding Anniversary Poems in Hindi

Contents
hide


1.
1 Poem


2.
2 poem


3.
3 Poem


4.
happy anniversary poem in Hindi


5.
4 Poem


6.
5 Poem


7.
6 Poem


8.
7 poem

स्वागत हैं दोस्तों आपका ultimastatus में, दोस्तों आज हम हमको अपने blog में 7 Best Wedding Anniversary Poem in Hindi का एक collection दे रहे है अगर आपको पढ़ने के बाद यह Anniversary Poems in Hindi पसंद आये तो हमें comment कर के जरूर बताना। तो चलाइये अब इन poems को पढ़ना शुरू करते है।

1 Poem

जगमगाती रहे चाँद सी रोशनी।
नीला गगन संग अम्बार लेकर।
रौनक भरे जिंदगी में गजल
ख़ुशियाँ लुटाये जग में नवी बन ।
नीले गगन से दिनकर भी पूछे
कैसी फ़िज़ा है मेरे यार की ।।
नीले गगन में मेंघों की गर्जन
खुशियाँ बिखेरे तबस्सुम के जैसी ।।
जीवन की नौका मचलती रहे
प्रेम की माँझी में नित संवरती रहे।।
जीवन भी मुस्कान बिखेरे फूल खिले।
रिमझिम सावन नीर मिले ।।

2 poem

मुबारक हो शादी की सालगिरह साहब।
प्रेम, ज्ञान नेह मय संसार प्यार साहब।
शब्दों में कोई त्रुटि हो संज्ञान लीजिए।
भावना ह्रदय की मन छ्न्द कीजिए।
जगमगाती रहे चाँद सी रोशनी।
नीला गगन संग अम्बार लेकर।
रौनक भरे जिंदगी में गजल
ख़ुशियाँ लुटाये जग में नवी बन।
नीले गगन से दिनकर भी पूछे
कैसी फ़िज़ा है मेरे यार की।।
नीले गगन में मेंघों की गर्जन
खुशियाँ बिखेरे तबस्सुम के जैसी।।
जीवन की नौका मचलती रहे
प्रेम की माँझी में नित संवरती रहे।।
जीवन भी मुस्कान बिखेरे फूल खिले।
रिमझिम सावन नीर मिले।।

3 Poem

सालगिरह पर बधाई!
एक साथ जोड़े के पहले वर्ष
पुरूष का सम्मान
और दुल्हन के लिए धनुष
आप इस साल रहते थे
दया, प्रेम और स्नेह में
युवा हमारा मीठा है
जीवन एक अच्छी परी कथा की तरह है!
युवाओं को प्यार करते हैं, प्यार करते हैं
आपका अनंत काल खत्म होगा,
ताकि आप सब कुछ कर सकें,
आप क्या चाहते हैं, प्राप्त करें!

happy anniversary poem in Hindi

4 Poem

आप दोनों की जोड़ी कभी न टूटे,
ख़ुदा करे आप एक दुसरे से कभी न रूठे,
यूँ ही एक होकर आप ये जिन्दगी बिताएँ,
आप दोनों से खुशियों के एक पल भी ना छूटे…
हालांकि कोठरी में एक घूंघट है,
हम सब दुल्हन को मान्यता देते हैं
और दुल्हन अभी भी एक है!
आप जोड़ना चाहते हैं
उपलब्धियां हर साल,
किनारे से
दु: ख और परेशानी के मार्ग
दुल्हन की दुल्हन को दुल्हन दें
एक सुंदर शादी के नृत्य में,
उन्हें सद्भाव में रहते हैं,
एक शादी में मजबूत, बहुत भावुक।

5 Poem

एक सालगिरह के साथ! अगर हम सुनते हैं
इस दिन, हम जोड़े हंसी,
तो उनकी शादी नतीजतन है
बड़ी सफलता पर!
तो सब कुछ है जैसा वे चाहिए,
जैसा कि वे चाहते थे कि वे थे
इसलिए, हम उन्हें चाहते हैं,
ताकि वे इस तरह रहें!

6 Poem

विवाह की वर्षगाँठ पर
स्वर्ग में तय होते हैं रिश्ते
सुना है ऐसा, सब कहते हैं,
जन्नत सा घर उनका जो
इकदूजे के दिल में रहते हैं !
जीवन कितना सूना होता
तुम बिन सच ही हम कहते,
खुशियों की इक गाथा उनमें
आंसू जो बरबस बहते हैं !
हाथ थाम कर लीं थीं कसमें
उस दिन जिस पावन बेला में,
सदा निभाया सहज ही तुमने
पेपर पर लिख कर देते हैं !
कदम-कदम पर दिया हौसला
प्रेम का झरना बहता रहता,
ऊपर कभी कुहासा भी हो
अंतर में उपवन खिलते हैं !
नहीं रहे अब ‘दो’ हम दोनों
एक ही सुर इक ही भाषा है,
एक दूजे से पहचान बनी
संग-संग ही जाने जाते हैं !
आज यहाँ आकर पहुंचे हैं
जीवन का रस पीते-पीते
कल भी साथ निभाएंगे हम
पवन, अगन, सूरज कहते हैं।

7 poem

तुम्हारे साथ बीत गये
कितने लम्हे कितने साल
पर सच पूछो तो बतलाऊं
दिल का मेरे वही है हाल
जब भी देखू तुमको मैं
धड़कनें बढ़ जाती है
सामने तुमको पा कर आज भी
मन ही मन मुस्काते है
कितना अच्छा रहा है देखो
मेरा इस जन्म नसीब
साथ तुम्हारा मिल गया मुझको
तुम हो मेरे सबसे करीब।

इन्हे भी पढ़िए :-

Scroll to Top